प्रशंसक

शुक्रवार, 14 जून 2019

बचपन



जीवन की आपाधापी में
बरसों के आने जाने में
बहुत कुछ बदलता है लेकिन
जो नही बदलता, वो बचपन है
बदल जाते है, रंग खुशी के
बदल जाते है, संग सभी के 
बदल जाते है, चेहरे मोहरे
बदल जाते है, मन भी थोडे
मौसम के आने जाने में
जमानों के गुजर जाने में
दिन रात बदलते है लेकिन
जो नही बदलता, वो बचपन है
बदल जाते है, रिश्ते नाते
बदल जाते है, दहजीज दुआरे
बदल जाते है,किस्मत के तारे
बदल जाते है, ख्वाब भी सारे
लोगो के आने जाने में
दुनिया के ताने बाने में
बदल जाते है रास्ते लेकिन
जो नही बदलता, वो बचपन है
जीवन की आपाधापी में
बरसों के आने जाने में
बहुत कुछ बदलता है लेकिन
जो नही बदलता, वो बचपन है

2 टिप्‍पणियां:

आपकी राय , आपके विचार अनमोल हैं
और लेखन को सुधारने के लिये आवश्यक

GreenEarth