प्रशंसक

गूगल अनुसरणकर्ता

मंगलवार, 7 फ़रवरी 2012

मोहब्बत का असर


पा लिया है जबसे तुम्हे,
लगता ये जहान मेरा है ।

पलकों तले नजरों में,
छिपाया तेरा चेहरा है ...........

बुरी नही लगती मुझे,
अब तो काली राते भीं,

महसूस ये होता कि,
तेरी जुल्फों ने आ घेरा है ।

पा लिया है......
रंग सारे सतरंगी
मौसम हर बसंती लगे
जबसे तेरी बांहों का
मुझको मिला घेरा है
पा लिया....
आरजू नही दिल को,
अब तो कुछ भी पाने की,

जबसे मेरे, दिल का तेरे,
हुआ दिल मे बसेरा है।

पा लिया है......

तुमसे ना जुदा होना,
मंजिल तेरी, ही है मेरी,

जहाँ तुझे कोई, दर्द मिले,
वो रस्ता नही मेरा है।

पा लिया है.......

16 टिप्‍पणियां:

  1. प्यार से बड़ा कोई नहीं ....
    शुभकामनायें !

    उत्तर देंहटाएं
  2. आरजू नही दिल को,
    अब तो कुछ भी पाने की,

    जबसे मेरे, दिल का तेरे,
    हुआ दिल मे बसेरा है।

    sundar rachna.. :)

    palchhin-aditya.blogspot.in

    उत्तर देंहटाएं
  3. घूम-घूमकर देखिए, अपना चर्चा मंच
    लिंक आपका है यहीं, कोई नहीं प्रपंच।।
    --
    आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा आज बुधवार के चर्चा मंच पर लगाई गई है!

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत अच्छा लिखा आपने,बढ़िया प्रस्तुति
    NEW POST.... बोतल का दूध...

    उत्तर देंहटाएं
  5. तुमसे ना जुदा होना,
    मंजिल तेरी, ही है मेरी,

    जहाँ तुझे कोई, दर्द मिले,
    वो रस्ता नही मेरा है।बढ़िया प्रस्तुति.

    उत्तर देंहटाएं
  6. मोहब्बत को बहुत ही, मोहब्बत भरे अन्दाज मै प्रस्तुत किया है.
    इस रचना का हर शब्द जब मन को छूता है,
    तो ऐसा लगता है, कि जैसे सरगम बज रही हो प्यार की,
    फुआरें बरस रही हो कायनात से,
    और दिल भीग रह हो इस सौगात से,

    उत्तर देंहटाएं
  7. रंग सारे सतरंगी
    मौसम हर बसंती लगे
    जबसे तेरी बांहों का
    मुझको मिला घेरा है ...

    ये प्यार का असर है ... सब कुछ अलग सा दिखाई देने लगता है ...

    उत्तर देंहटाएं
  8. सच है..प्यार पा लिया..सब कुछ पा लिया..
    सुन्दर रचना.

    उत्तर देंहटाएं
  9. मोहब्बत ..मोहब्बत ही होती है .......और अहसास बन कर अभिव्यक्त होती है ...!

    उत्तर देंहटाएं
  10. इस गीत के हर शब्द दिल से निकले है ऐसा प्रतीत होता है ,. प्रेम की मिठास टपक टपक जा रहा है .

    उत्तर देंहटाएं
  11. @जहाँ तुझे कोई, दर्द मिले, वो रस्ता नही मेरा है।
    बहुत सुन्दर!

    उत्तर देंहटाएं

आपकी राय , आपके विचार अनमोल हैं
और लेखन को सुधारने के लिये आवश्यक

GreenEarth