प्रशंसक

बुधवार, 13 फ़रवरी 2013

पाकर तुमको लगा है ये.................














प्रियवर तुमसे मिली मै ऐसे
जैसे सागर में मिलकर नदिया
पाकर तुमको लगा है ऐसे
जैसे मिल गयी है, सारी दुनिया.....

ना थी मेरी कंचन काया
ना हिरनी से थे नैना
फिर भी तुमने हार के सब
ढूँढे मुझमें अपने चैना

ना दो पल  देखूँ तो, लगता ऐसे
जैसे बीत गयी कितनी सदियां
पाकर तुमको.....

मेरे हर अधूरेपन को
पूर्णता तुमने दे डाली
इस बंजर मन में लाये
तुम सावन बन हरियाली
हर ख्वाब मेरे साकार हुये
महसूस करूँ हर पल खुशियां
पाकर तुमको........

12 टिप्‍पणियां:

  1. one of the most beautiful reading.
    just loved it, amazing.
    I want to learn so much from you.

    उत्तर देंहटाएं
  2. सुन्दर प्रस्तुति आदरेया |
    शुभकामनायें-

    उत्तर देंहटाएं
  3. प्यार और समर्पण को जाहिर करती सुन्दर रचना !!

    उत्तर देंहटाएं
  4. अपने वेलेंटाइन के इससे खूबसूरत अल्फाज क्या हो सकते हैं ...
    मन में उतरती रचना ...

    उत्तर देंहटाएं
  5. इस बंजर मन में लाये
    तुम सावन बन हरियाली
    हर ख्वाब मेरे साकार हुये
    महसूस करूँ हर पल खुशियां
    पाकर तुमको...........बेहतरीन रचना देने के लिए आभार

    उत्तर देंहटाएं

  6. बहुत सुंदर भावनायें और शब्द भी .बेह्तरीन अभिव्यक्ति ...!!शुभकामनायें.
    आपका ब्लॉग देखा मैने और कुछ अपने विचारो से हमें भी अवगत करवाते रहिये.
    http://madan-saxena.blogspot.in/
    http://mmsaxena.blogspot.in/
    http://madanmohansaxena.blogspot.in/
    http://mmsaxena69.blogspot.in/

    उत्तर देंहटाएं
  7. वाह बहुत खूब ...पूर्णता का सुखद अहसास ...मेरे हर अधूरेपन को पूर्णता तुमने दे डाली
    इस बंजर मन में लाये
    तुम सावन बन हरियाली

    उत्तर देंहटाएं
  8. खोकर तुमको लगा है ऐसा ...

    choda तुमने saath जो मेरा
    bikhri मेरी bagiya
    ऐसा खंजर पाडा जो mujhpe
    बंजर hui मेरी दुनिया

    arsey pehley खबर मिली थी
    है कोई pareshaan dukhiya
    न तन न kaaya की सोचो
    सोचा sirf उसकी khushiyan

    कदम padey uske iss dharatal पे
    sajney लगी थी दुनिया
    दुख को मैने duur bhagaya
    chaaney लगी थी khushiyan

    कौन adhoora और कौन पूर्णा
    ना सोचा ना poochaa thaa
    nirdayta की hadd पार कर
    kuchley mere armaa usney

    saarey sapney aur घरौंदा
    टोडा usney एक पल mein
    ऐसा सिला मिला VAFA का
    रूह DaFan हुई kabar mein

    उत्तर देंहटाएं

आपकी राय , आपके विचार अनमोल हैं
और लेखन को सुधारने के लिये आवश्यक

GreenEarth