प्रशंसक

गूगल अनुसरणकर्ता

मंगलवार, 1 फ़रवरी 2011

सभी ब्लागर्स से सजग रहने की अपील



कल एक बहुत चौकाने वाली घटना सामने आयी । डा. पवन मिश्र जी की कविता  और अफज़लो की सजा बदल रही है. जिसे उन्होने रविवार, १२ दिसम्बर २०१० को अपने ब्लाग पछुआ पवन पर लिखा था ,  यशपाल के. सिगाह ने  आडियो Mahboob E Mulk ki hawa badal rahi hai  बना कर १७ दिसम्बर २०१० को youtube पर डाला है , और इस बात की जानकारी डा. पवन जी को नही दी गयी । कल अचानक ही यह लिंक  पवन जी ने देखा और फिर हमको इसकी जानकारी दी । तब हमने फेसबुक से उनका ई-मेल पता ले कर उनको मेल किया । और थोडी देर पश्चात उनका उत्तर आया ,जो इस प्रकार है



Yashpal Sihag to me        show details 8:51 AM (18 hours ago)           
Hello aprna ji,
My singing is inspired by Dr. Kumar vishwas, I am not a writer and that gajal was writeen by Dr. pawan kr mishra.
I mentioned my inspiration Dr. Kumar vishwas as a singer not as a writer.
But still it was my mistake and i do agree with that, i didn't mention writer name, so i talked to Dr. pawan kr mishra today, and i requested to forgive my mistake, I also assured him that i will not repeat my mistake in future. and with the kind and large hearted voice he considered me one more chance. so i am thank full to him.
I also would like to thank you for helping me to learn a new lesson from life.
my apologizes for hearting your believes, please forgive me.
Thanking you
Yash
http://www.youtube.com/watch?v=Y_Ua3X4q8lg
2011/1/31 अपर्णा त्रिपाठी
- Show quoted text -
YouTube - Videos from this email

अपर्णा त्रिपाठी to Yashpal, bcc: Pawan  show details 10:54 PM (4 hours ago)
यशपाल जी
मुझे खुशी है कि आपने समय रहते अपनी गलती स्वीकार कर ली है । किन्तु मात्र गलती मानना ही तो पर्याप्त नही होता , हमे गल्तियों को सुधारना भी चाहिये । डा. पवन मिश्रा जी ने आपको क्षमा कर दिया , उनका ह्दय विशाल है । यदि आप वास्तव में उनका सम्मान करते हैं और आप से यह भूल अन्जाने में हुयी है तो उसका सुधार भी कीजिये । आप  youtube से अपना वह वीडियों हटा लीजिये । और आप चाहे तो पवन जी की लिखित अनुमति के बाद आप पुनः नया वीडियों बना कर डाल सकते है जिसमें लेखक का नाम भी आना चाहिये। गीत की गायकी के लिये आपके पास लिखित अनुमति होनी चाहिये , यदि उसे लाभ के लिये उपयोग किया जा रहा है ,(और आपने ऐसा किया है ) अन्यथा यह अपराध की श्रंखला मे ही आता है ।
डा. पवन जी की मै मात्र प्रशंसक ही नही उनकी बहन भी हूँ । और आपके इस कार्य से हमे ढेस पहुँची है ।
समय रहते इसमें सुधार अनिवार्य है । अथवा हमें कुछ ठोस कदम उठने पडेंगें ।
2011/1/31 Yashpal Sihag
palash "पलाश"

Yashpal Sihag to pkmkit, me      show details 1:13 AM (2 hours ago)
Dear Sir,
Thank you very much for your forgiveness.
I would like to request you to allow me to give voice to your writing, I am not an professional singer, I am working in social development sector, I like singing and i found that some of your gajal and poems are very patriotic. so i would  to request you to grant me permission to give voice to your creation. I assure you that any given writing will not be used to generate financial or other benefit.
The video is no more visible on the internet, Until i receive your kind permission.
Waiting for your kind approval
Thanking you
Yash




फिर उन्होने पवन जी से बात करके माफी मांगी । और नेट पर Mahboob E Mulk ki hawa badal rahi hai -- Written by Dr. Pawan Kumar Mishra लिख कर सुधार किया ।

मगर क्या यह मान लिया जाय की यशपाल जी से यह भूल अन्जाने में हुयी है , जब कि उन्होने इस गीत का रिंगटोन भी बनाया है । क्या इस तरह की चोरी क्षमा के योग्य है । क्या लेखक की बिना अनुमति के उसकी रचनाओं का प्रयोग लाभ के लिये करना अपराध की श्रंखला में नही आता ।
 

 अगर हम यह मान भी लें कि यशपाल जी की भावना गलत नही थी तब भी यह स्पष्ट नही होता कि जिसकी कविता वो गाते है उसका नाम तो नही लेते लेकिन कुमार विश्वास जी का नाम जरूर लेते हैं। यह उनकी कथनी और करनी में भेद उत्पन्न करता है । जैसा कि ऊपर वाले चित्र में लिखा गया है 

आप सभी से एक बात कहना चाहूंगी कि आप लोग भी ध्यान दें कि क्या आपकी रचनाओं का प्रयोग आपकी जानकारी के बिना तो नही किया जा रहा ।
क्या ब्लाग जगत पर कुछ ऐसा किया जा सकता है यदि कोई किसी के ब्लाग से उसकी रचना या रचना का अंश ले कर लाभ कमाना चाहता है तो लेखक की अनुमति और सहभागिता अनिवार्य की जाय ।

23 टिप्‍पणियां:

  1. Bilkul sahi kaha hai aapne maine yah video dikhi thi aaj subah Pawan sir ne link diya tha par iske pahle itna kuch hua yah pata na tha par koi blogger is baat ki jankari kaise rakh sakta hai ki uski rachna koi aur to nahi istemaal kar raha apne fayede ke liye?

    उत्तर देंहटाएं
  2. ufff....
    ab kitni chinta karein..kahan kahan pahredaari karein, aap hi batayein....
    hum to haar gaye ..:(

    उत्तर देंहटाएं
  3. बेहद अफसोसजनक...समय रहते आपने कदम उठा लिया, वर्ना कल को तो ये साहब मुकर ही जाते.

    उत्तर देंहटाएं
  4. आदरणीया अपर्णा जी ,
    आपने बहुत सराहनीय कार्य किया है ! वास्तव में सभी ब्लाग लेखकों के लिए यह चिंता का विषय है |
    काश , कोई ऐसी तकनीक ब्लॉग पर भी विकसित हो पाती जिससे इस तरह की रचना चोरी पर अंकुश लगाया
    जा सकता |

    उत्तर देंहटाएं
  5. सभी ब्लाग लेखकों के लिए यह चिंता का विषय है , आपने बहुत सराहनीय कार्य किया है.

    उत्तर देंहटाएं
  6. मै कल ऐसे ही गूगल पर अपनी कुछ पुरानी कविताये पढ़ रहा था अचानक यह लिंक मिल गया
    मुझे हैरानी हुई मैंने अपर्णा से बात की इसके बाद की कहानी आप लोगो के सामने है
    यशपाल ने हालांकि मुझसे माफी मांगी है लेकिन एक बात नही समझ पा रहा हूँ कि इतना पढ़ा लिखा व्यक्ति कैसे ये काम कर सकता है मुझे विश्वास नही होता
    छुटकी क़ा मेरे प्रति लिखना मेरे लिए गर्व की बात है मै निश्चिन्त रहता हूँ
    ये तो अब सुधी ब्लागर बंधू बताये कि इस मामले पर क्या कदम उठाये जाने चाहिए.

    उत्तर देंहटाएं
  7. चलिये, श्रेय मिल गया कवि को, साथ में सुर भी।

    उत्तर देंहटाएं
  8. वास्तव में ये अपराध क्षमा योग्य नहीं है और इस सम्बन्ध में सभी ब्लॉग लेखकों को जागरूक व् एक जुट होना होगा ताकि आगे से कोई भी यदि ऐसी हिमाकत करता है तो मिलकर उसे करारा जवाब दिया जा सके...

    उत्तर देंहटाएं
  9. आपसे सहमत।
    किसी के पोस्ट का उपयोग बिना उसकी जानकारी और सहमति के नहीं करना चाहिए।
    यह वाकया सही नहीं है।
    आपकी शंका भी जायज़ है।

    उत्तर देंहटाएं
  10. अपर्णा जी ,
    अफसोसजनक
    आपने बहुत सराहनीय कार्य किया है

    उत्तर देंहटाएं
  11. सभी लेखकों के लिए यह चिंता का विषय है| आपकी शंका भी जायज़ है।

    उत्तर देंहटाएं
  12. ये तो संयोग था की पवन जी को एक लिंक मिल गया , पता नही इस प्रकार की साहित्यिक चोरी कहाँ कहाँ हुई होगी

    उत्तर देंहटाएं
  13. आपकी शंका जायज है और हमने इस नज़रिये से सोचा ही नही………अभी कुछ दिन पहले मेरे साथ भी यही हुआ कि मेरी कहानी एक अखबार मे छपी और उसके बाद उन्होने मुझे बताया कि आपकी कहानी उस अखबार मे छपी है और लिंक भी दे दिया जिसे फ़ेसबुक पर लगाया ………मगर मैने इस नज़रिये से नही सोचा ………अब ये देखकर लगता है कि जिन्होने मुझे सूचना दे दी वो तो ठीक हैं और जो न देते तो पता ही नही चलता…………इसके प्रति तो सभी को सावधान रहना होगा….………

    उत्तर देंहटाएं
  14. आपकी अपील पर गौर कर लिया आपका आभार इस जानकारी के लिए ...परन्तु यह दुखद पहलु है ..ऐसी घटनाएँ नहीं होनी चाहिए ...शुक्रिया आपका अपर्णा जी

    उत्तर देंहटाएं
  15. मैं तो कहता हूं कि जो भी लेना हो, लिया जाये, लेकिन लिंक अवश्य दिया जाये, आभार प्रकट करने के साथ..

    उत्तर देंहटाएं
  16. आपकी रचनात्मक ,खूबसूरत और भावमयी
    प्रस्तुति भी कल के चर्चा मंच का आकर्षण बनी है
    कल (3/2/2011) के चर्चा मंच पर अपनी पोस्ट
    देखियेगा और अपने विचारों से चर्चामंच पर आकर
    अवगत कराइयेगा और हमारा हौसला बढाइयेगा।
    http://charchamanch.uchcharan.com

    उत्तर देंहटाएं
  17. आपके निष्कर्ष से पूर्ण सहमती है.

    उत्तर देंहटाएं
  18. अगर मुझे यह सिहाग कही दीखता तो मै इसे समझाता कायदे से
    पवन भैया तो साधू है इतनी भलमनसाहत उनके प्रसंशको में नही मै इसलिए उनसे बहुत नाराज़ हो जाता हूँ कि जिसे देखो उसे वो माफी दे देते है
    आज तक मै इसी उम्मीद में रहा कि अब वह दंड का प्रयोग करेगे लेकिन ..... जरा सा किसी ने रो दिया बस पिघल गए ये कोई बात नहीं होती
    सिहाग को सबक सिखाना था लो उसको भी माफ़ कर दिया

    उत्तर देंहटाएं
  19. ये इन्टरनेट की दुनिया इतनी वृस्तित हो गयी है की इस पैर नज़र रख पाना असंभव सा है ... अंकुश लगाने की बात तो भूल ही जाइये ... ये उस शख्स (यहाँ यशपाल जी ) पर ही निर्भर करता है की वह सच्चाई के साथ लेखक को पूरा सम्मान दे और अनुमति ले ... मुझे नहीं लगता की कोई भी लेखक या कवी अपनी रचना देने में परहेज़ करेगा ... तो फिर अनुमति लेने में या बताने में संकोच कैसा ??

    उत्तर देंहटाएं
  20. kya apko nahi lagta ki apko bhi mere blog par ek nazar drishti dalni chahiye? mei to apki follower ban chuki hoon...kya aap mujhae is kabil samajhti hain?

    उत्तर देंहटाएं
  21. Dear all, Have a great day

    I have gone through all the comments, and i apologies for the mistake i had done. and i sure that i will not repeat it again. but i already copied some poems from different blogs and webpage and i don't know whose poems these are. i have mentioned name but some of them are still in line kindly check weather your poem, song is there or not.

    http://www.youtube.com/watch?v=XOW-NCLnxLU
    http://www.youtube.com/watch?v=-5puxzem5gE
    http://www.youtube.com/watch?v=ProSY1epNmk
    http://www.youtube.com/watch?v=5pEksiXDlvM
    http://www.youtube.com/watch?v=SNfbNzEzJE4
    http://www.youtube.com/watch?v=PJbVQbaTrQ0
    http://www.youtube.com/watch?v=ajRp5_LlEB0
    http://www.youtube.com/watch?v=LaWbItUu9Fg
    http://www.youtube.com/watch?v=JlJXxTU9w9Q
    http://www.youtube.com/watch?v=Y9nFUVLrM-0
    http://www.youtube.com/watch?v=OFMR6Pfrd3U
    http://www.youtube.com/watch?v=96hWCZJr30M
    http://www.youtube.com/watch?v=L9drsBi9C1k
    http://www.youtube.com/watch?v=K-rjasF4xOs
    http://www.youtube.com/watch?v=OvdWJZN2xsI
    http://www.youtube.com/watch?v=lkwcW4PJU1s
    http://www.youtube.com/watch?v=NmcZEzNgLbw
    http://www.youtube.com/watch?v=M6Pb6YDdpZ8
    http://www.youtube.com/watch?v=GaELcEApRWE
    http://www.youtube.com/watch?v=Y_Ua3X4q8lg
    http://www.youtube.com/watch?v=uWKF1vqJ_2c
    http://www.youtube.com/watch?v=c5CiqVYrRf4
    http://www.youtube.com/watch?v=9QJ0FahhmF8
    http://www.youtube.com/watch?v=9kpDDiuyAAY
    http://www.youtube.com/watch?v=KR8gNS27ZBs
    http://www.youtube.com/watch?v=s06lDwOB5ko
    http://www.youtube.com/watch?v=vq4JgzoZROM
    http://www.youtube.com/watch?v=MRg7T9BEtLU
    http://www.youtube.com/watch?v=4DEdzFjZ-Cw
    http://www.youtube.com/watch?v=CO26mzxPqlk
    http://www.youtube.com/watch?v=qaZApx1HViA
    http://www.youtube.com/watch?v=gjpyf2xQm1A
    http://www.youtube.com/watch?v=-4_ODsY6ZZs
    http://www.youtube.com/watch?v=y5UnLGcow-w
    http://www.youtube.com/watch?v=2_M0QvKnwoI
    http://www.youtube.com/watch?v=lUzlzsPoQKA
    http://www.youtube.com/watch?v=wSbXBL11pDs

    Thanks
    YASH

    उत्तर देंहटाएं
  22. आप लोग भी ध्यान दें कि क्या आपकी रचनाओं का प्रयोग आपकी जानकारी के बिना तो नही किया जा रहा ।

    umda aur sarthak post
    badhaai

    उत्तर देंहटाएं

आपकी राय , आपके विचार अनमोल हैं
और लेखन को सुधारने के लिये आवश्यक

GreenEarth