प्रशंसक

बुधवार, 22 दिसंबर 2010

नये साल की नयी सुबह आने को है......

नये साल की नयी सुबह आने को है
उम्मीदे फिर नये ख्वाब सजाने को है

सज गये है बाजार फिर से खुशियों के
कुछ नये खरीदार दाम लगाने को है

कैसा रहेगा नया साल आपके लिये
भविष्यवक्ता फिर से ये बताने को है

सुकून लायेगा या कुछ बेरहम धमाके
आज यही फिक्र, बेबस जमाने को है

नये साल की शुभकामनाओ के सहारे
फीके पडे रिश्तों मे चमक आने को है

दामन में सजेगें कुछ और भी सितारे
अधूरे रहे अरमान मंजिल पाने को है

ढल रहा बीते साल का ,सूरज धीरे धीरे
नयी अंगडाई लिये जनवरी आने को है

नये साल की नयी सुबह आने को है
उम्मीदे फिर नये ख्वाब सजाने को है

33 टिप्‍पणियां:

  1. नये साल की नयी सुबह आने को है
    उम्मीदे फिर नये ख्वाब सजाने को है
    .नए साल के आगमन की तयारी आपके इस ब्लॉग से हमने भी शुरू कर दी है............बहुत ही सुंदर प्रस्तुति
    सृजन शिखर पर -- इंतजार

    उत्तर देंहटाएं
  2. @भारतीय जी गलती बताने और सुधार बताने का बहुत धन्यवाद ।

    उत्तर देंहटाएं
  3. सुकून लायेगा या कुछ बेरहम धमाके
    आज यही फिक्र, बेबस जमाने को है

    नये साल की शुभकामनाओ के सहारे
    फीके पडे रिश्तों मे चमक आने को है

    बहुत अच्छी रचना
    नव वर्ष क्या लायेगा ये उत्सुकता तो सब को है

    उत्तर देंहटाएं
  4. acche bhav sanjoe aapne nae saal ko le panpane walee sabhee icchao ka badiya chitran kar diya ....
    aabhar

    उत्तर देंहटाएं
  5. नये साल की नयी सुबह आने को है
    उम्मीदे फिर नये ख्वाब सजाने को है

    सज गये है बाजार फिर से खुशियों के
    कुछ नये खरीदार दाम लगाने को है

    सुंदर प्रस्तुति...

    उत्तर देंहटाएं
  6. नये साल की शुभकामनाओ के सहारे
    फीके पडे रिश्तों मे चमक आने को है
    ....अगर ऐसा भी तो नया साल मायने रखेगा
    सुंदर

    उत्तर देंहटाएं
  7. भावाव्यक्ति का अनूठा अन्दाज ।
    बेहतरीन एवं प्रशंसनीय प्रस्तुति ।

    उत्तर देंहटाएं
  8. वाह, बहुत खूब...
    नए वर्ष का इंतज़ार है....

    उत्तर देंहटाएं
  9. नए साल पर पूरी कर मेरे मन की मुराद मौला
    मिरे वतन के सीने पर ना हो कोई फसाद मौला

    उत्तर देंहटाएं
  10. नये वर्ष के समयामन्त्रण में आप नयापन अनुभव करें।

    उत्तर देंहटाएं
  11. नये साल की शुभकामनाओ के सहारे
    फीके पडे रिश्तों मे चमक आने को है
    सुन्दर पन्तिया ........अच्छी रचना ....बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  12. ये साल तो ठीक ही रहा। देखती हूँ नया साल क्या क्या खुशियाँ लेकर आता है।
    सुन्दर रचना के लिए बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  13. नये साल की शुभकामनाओ के साथ सुन्दर प्रस्तुति के लिये बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  14. नये साल की शुभकामनाओ के साथ सुन्दर प्रस्तुति के लिये बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  15. नये साल की नयी सुबह आने को है
    उम्मीदे फिर नये ख्वाब सजाने को है

    बहुत ही सुंदर....

    उत्तर देंहटाएं
  16. ढल रहा बीते साल का ,सूरज धीरे धीरे
    नयी अंगडाई लिये जनवरी आने को है

    सामयिक और बेहतरीन अभिव्यक्ति है..

    उत्तर देंहटाएं
  17. बहुत ही सुंदर प्रस्तुति|धन्यवाद ।

    उत्तर देंहटाएं
  18. नए साल पर यह कविता तो बहुत प्यारी है ..बधाई.
    'पाखी की दुनिया' में भी आपका स्वागत है.

    उत्तर देंहटाएं
  19. आपका कार्य प्रशंसनीय है, साधुवाद !

    हमारे ब्लॉग पर आजकल दिया जा रहा है
    बिन पेंदी का लोटा सम्मान ....आईयेगा जरूर
    पता है -
    http://mangalaayatan.blogspot.com/2010/12/blog-post_26.html

    उत्तर देंहटाएं
  20. कैसा रहेगा नया साल आपके लिये
    भविष्यवक्ता फिर से ये बताने को है
    xxxxxxxxxxxxxxxxxx
    बहुत सुंदर कविता है पलाश जी ...नव वर्ष 2011 की हार्दिक शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  21. नये साल की नयी सुबह आने को है
    उम्मीदे फिर नये ख्वाब सजाने को है

    ham bhi yahi ummid karte hain:)
    dekhen naya saal kya khushi lata hai:)

    उत्तर देंहटाएं
  22. NAYA SAAL 2011 CARD 4 U
    _________
    @(________(@
    @(________(@
    please open it

    @=======@
    /”**I**”/
    / “MISS” /
    / “*U.*” /
    @======@
    “LOVE”
    “*IS*”
    ”LIFE”
    @======@
    / “LIFE” /
    / “*IS*” /
    / “ROSE” /
    @======@
    “ROSE”
    “**IS**”
    “beautifl”
    @=======@
    /”beautifl”/
    / “**IS**”/
    / “*YOU*” /
    @======@

    Yad Rakhna mai ne sub se Pehle ap ko Naya Saal Card k sath Wish ki ha….
    मेरी नई पोस्ट पर आपका स्वागत है !

    उत्तर देंहटाएं

आपकी राय , आपके विचार अनमोल हैं
और लेखन को सुधारने के लिये आवश्यक

GreenEarth