प्रशंसक

गूगल अनुसरणकर्ता

बुधवार, 23 मार्च 2011

अलविदा with the hope of returning



ब्लाग जगत के सभी बडों एवं मित्रो से विनम्रता से कुछ दिनों के लिये अवकाश ले रही हूँ । ये तो नही जानती कब वापस आऊँगी (आऊँगी भी या नही) , मगर आप सभी से जो आशीष , प्यार मिला उसे बहुत सहेज कर रखूंगी । आज से लगभग ढेड वर्ष पूर्व जब हमने लिखना शुरु किया तो आप सभी ने मेरा उत्साह बढाया, उसी का आज परिणाम है कि इस सागर जैसे ब्लाग जगत मे हम एक गुमनाम बूँद नही बने (माना कि मोती भी नही हैं) ।आप सभी से बहुत कुछ सीखा और पाया ।आप सभी का बडप्पन था कि मैने जो कुछ भी (टूटा फूटा सा) लिखा आपने पढा भी सराहा भी , और सुधारा भी (अपना अमूल्य समय दे कर) , मैं तहे दिल से आज आप सभी का शुक्रिया अदा करती हूँ ।
कुछ विवशता है कि अब हम कुछ समय तक लिख नही सकेगें हाँ आप सभी को पढना मेरा जारी रहेगा ।

कभी साथ रह के, तो कभी कभी दूर रह कर भी रिश्ते निभाये जाते है ।
कभी कभी कुछ ,तो कभी कभी सब खो कर भी मुकद्दर आजमाए जाते है ॥


हमने सदैव ही यह कोशिश की ,कि चाहे कम लिखूँ , किन्तु अच्छा ही लिखूँ , ऐसा लिखूँ जिससे किसी को तकलीफ ना हो , किन्तु फिर भी यदि कभी हमने अन्जाने मे भी ऐसा लिखा हो जिससे किसी को भी तकलीफ हुयी हो ,
तो आज हम सभी लेखकों और अपने पाठको से क्षमा प्रार्थी है । ब्लाग जगत मेरी जिन्दगी का एक हिस्सा है , जो हमेशा मेरे साथ रहेगा । ईश्वर ने चाहा तो जरूर फिर एक दिन वापस आयेगें ।
 
तब तक के लिये अलविदा
 
पलाश

34 टिप्‍पणियां:

  1. आशा है आप बाधाओं पर विजय पा शीघ्र ही वापस आयेंगी। शुभकामनायें।

    उत्तर देंहटाएं
  2. तुमने जो निर्णय लिया है मुझे पूरा विश्वास है की सोच समझ कर और अपने हित में लिया होगा . तुम बहुत अच्छा लिखती हो . कई बार हम लेखन से विरत रहकर भी काफी कुछ सीखते है . मेरी हार्दिक शुभकामनाये तुम्हारे सुखद भविष्य के लिए .

    उत्तर देंहटाएं
  3. ह म आपके मंगलमय एवं सुखद जीवन की कामना करते हुए उम्मीद करते हैं शीघ्र ही आपका लेखन फिर सामने आएगा.

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत अच्छा दिल पाया है तुमने...
    अगर किसी प्रकार का सहयोग चाहिए तो निस्संकोच बताना !
    सस्नेह शुभकामनायें !

    उत्तर देंहटाएं
  5. इन्तजार रहेगा..शुभकामनाएँ.

    उत्तर देंहटाएं
  6. isvr kren aap naa jaaye or hmare sath bni rhen vaapsi ka intizaar he . akhtar khan akela kota rajsthan

    उत्तर देंहटाएं
  7. आदरणीय अपर्णा जी
    नमस्कार !
    इन्तजार रहेगा शीघ्र ही वापस आयेंगी।

    उत्तर देंहटाएं
  8. आदरणीय अपर्णा जी
    हमे आपकी अगली पोस्ट का इन्तजार रहेगा और आपके मंगलमय भविष्य की कामना करता हूँ!हम आपको कहीं जाने थोडे देंगे आपकी कविताओ के लिए आपका इंतज़ार करते रहेंगे और आपको मेरे शुभकामनायें!

    उत्तर देंहटाएं
  9. फिर यह अलविदा नहीं है। अपने कहा आप ब्लॉग-जगत में पाठक के रूप में नियमित रहेगी। अर्थार्त आप ब्लॉग-जगत से संतुष्ट है। लेखन न कर पाने का कारण समय की कमी हो सकता है। खैर जिसमें अच्छा लगे वह करो,लेखन में आपकी आशा में हमारी भी आशा सम्मलित है।

    उत्तर देंहटाएं
  10. इन शब्दों के साथ "सुगना फाऊंडेशन-मेघ्लासिया जोधपुर","एक्टिवे लाइफ" और "आज का आगरा" बलोग की तरफ से हार्दिक शुभकामनाये आपको

    उत्तर देंहटाएं
  11. आपकी यात्रा मंगलमय हो शुभकामनाये!

    उत्तर देंहटाएं
  12. Aishi bhi kya majburi ki sabko alvida kah dete hain log,

    kanhi bhi rahe thoda samay ka gaip de kar ke likh sakhte hain

    उत्तर देंहटाएं
  13. अरे,ऐसे अचानक क्या बात हो गई जो ब्लॉग जगत से विदा लेना पड़ रहा है . पता नहीं कारण बताना तुम ठीक समझोगी या नहीं परन्तु तुम्हारा निर्णय सही होगा इतना मुझे तुम पर भरोसा है. मेरी हार्दिक शुभकामनायें हमेशा तुम्हारे साथ रहेंगी.मेरे लायक कोई काम समझना तो बेझिझक बताना.

    उत्तर देंहटाएं
  14. आपके वापस यहाँ आने का इंतज़ार रहेगा.

    उत्तर देंहटाएं
  15. अरे! अचानक ऐसा क्या हुआ???

    उत्तर देंहटाएं
  16. हार्दिक शुभ कामनाएं.
    उम्मीद है जल्द ही लौटेंगी.

    उत्तर देंहटाएं
  17. आऊंगी भी या नहीं, इसका मतलब समझ नहीं आया. जल्दी आइये वाप्स...

    उत्तर देंहटाएं
  18. आशा है आप शीघ्र ही वापस आयेंगी। शुभकामनायें।
    आपके वापस यहाँ आने का इंतज़ार रहेगा.*****

    उत्तर देंहटाएं
  19. आपके ब्लॉग पर आकर अच्छा लगा , आप हमारे ब्लॉग पर भी आयें. यदि हमारा प्रयास आपको पसंद आये तो "फालोवर" बनकर हमारा उत्साहवर्धन अवश्य करें. साथ ही अपने अमूल्य सुझावों से हमें अवगत भी कराएँ, ताकि इस मंच को हम नयी दिशा दे सकें. धन्यवाद . हम आपकी प्रतीक्षा करेंगे ....
    भारतीय ब्लॉग लेखक मंच
    डंके की चोट पर

    उत्तर देंहटाएं
  20. तुस्सी जा रहे हो ?
    तुसी ना जाओ ना ....

    उत्तर देंहटाएं
  21. आपकी कमी खलेगी। आशा है आप जल्दी ही वापस आएगीं और एक बार फिर से अपने लेखन द्वारा इस ब्लाग जगत को महकाएगीं। आपके उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएॅ।

    उत्तर देंहटाएं
  22. आज एक गीत गाने का मन कर रहा है, ‘कभी अलविदा ना कहना ...!’
    कोई सहयोग की ज़रूरत हो तो बताएं।

    उत्तर देंहटाएं
  23. पढ़ सकती हो , मगर लिखोगी नहीं ...
    ऐसा क्यों ??

    उत्तर देंहटाएं
  24. अरे, ऐसा क्‍या हो गया, जिससे आपको यह निर्णय लेना पडेगा। आशा है आप अपने इस निर्णय पर पुनर्विचार करेंगी और ब्‍लॉग जगत को अपने विचारों से लाभान्वित करती रहेंगी।

    ............
    ब्‍लॉगिंग को प्रोत्‍साहन चाहिए?
    एच.आई.वी. और एंटीबायोटिक में कौन अधिक खतरनाक?

    उत्तर देंहटाएं
  25. अच्छे है आपके विचार, ओरो के ब्लॉग को follow करके या कमेन्ट देकर उनका होसला बढाए ....

    उत्तर देंहटाएं
  26. अच्छे है आपके विचार, ओरो के ब्लॉग को follow करके या कमेन्ट देकर उनका होसला बढाए ....

    उत्तर देंहटाएं
  27. श्रीमान जी, क्या आप हिंदी से प्रेम करते हैं? तब एक बार जरुर आये. मैंने अपने अनुभवों के आधार ""आज सभी हिंदी ब्लॉगर भाई यह शपथ लें"" हिंदी लिपि पर एक पोस्ट लिखी है. मुझे उम्मीद आप अपने सभी दोस्तों के साथ मेरे ब्लॉग www.rksirfiraa.blogspot.com पर टिप्पणी करने एक बार जरुर आयेंगे. ऐसा मेरा विश्वास है.

    श्रीमान जी, हिंदी के प्रचार-प्रसार हेतु सुझाव :-आप भी अपने ब्लोगों पर "अपने ब्लॉग में हिंदी में लिखने वाला विजेट" लगाए. मैंने भी कल ही लगाये है. इससे हिंदी प्रेमियों को सुविधा और लाभ होगा.

    उत्तर देंहटाएं
  28. पलाश के फूल फिर खिलेंगे

    उत्तर देंहटाएं
  29. आपका स्वागत है "नयी पुरानी हलचल" पर...यहाँ आपके पोस्ट की है हलचल...जानिये आपका कौन सा पुराना या नया पोस्ट है यहाँ पर कल ...........
    नयी-पुरानी हलचल

    उत्तर देंहटाएं

आपकी राय , आपके विचार अनमोल हैं
और लेखन को सुधारने के लिये आवश्यक

GreenEarth